गुरुवार, 16 अप्रैल 2009

अगले चुनाव में समीर लाल प्रधानमंत्री बनें

यह चुनाव तो हाथ से गया। लेकिन अगले चुनाव के लिये कुछ प्रत्याशी सुझाय दे रहा हूँ। गौर फरमायें:

प्रधानमंत्री: समीर लाल
कानून मंत्री: दिनेशराय द्विवेदी
गृह मंत्री: संजय बेंगाणी
विदेश मंत्री: ताऊ रामपुरिया
यातायात मंत्री: ज्ञानदत्त पांडे
रेल मंत्री: मुसाफिर जाट
महिला और बाल विकास मंत्री: रचना
युवा विकास मंत्री: कौतुक
तकनीक मंत्री: रवि रतलामी
प्राथमिक शिक्षा मंत्री: प्रवीण त्रिवेदी
शिक्षा मंत्री: दीपक भारतदीप
ज्योतिष मंत्री: संगीता पुरी
संस्कृति मंत्री: शास्त्री जी
लोक सभा अध्यक्ष: अनूप शुक्ल फुरसतिया
प्रेम मंत्री: अनिल कांत
अगड़म-बगड़म मंत्री: आलोक पुराणिक
... ... ...
... ... ...
... ... ...
जो रह गये, वे अपना नाम टिप्पणी में प्रकाशित कर दें। मिली-जुली सरकार में सबको चांस मिलेगा।

31 टिप्‍पणियां:

रचना ने कहा…

dhynayvaad mujeh aapne yad rakha

ajay kumar jha ने कहा…

mantreemandal में शास्त्री जी को संस्कृति mantree bana देते हैं, बांकी सब ठीक है, हम तो वोटार्वा ही रहेंगे , हाँ प्रधानमंत्री बढ़िया है भारीभरकम और वो भी aileeyan .....जल्दी ghoshit करवाइए ये chunaav

Dr. Munish Raizada ने कहा…

आपने आपने लिए क्या पद चुना?

Anil ने कहा…

मैं भी वही रहूंगा जो ऊपर अजय झा जी हैं! :)

हाँ आपको स्वास्थ्य मंत्री बनाया जा सकता है! :)

dhiru singh {धीरू सिंह} ने कहा…

इस मंत्रिमंडल का विस्तार करिए और हां सोनिया गाँधी वाला रोल किसे मिलेगा

संजय बेंगाणी ने कहा…

कांग्रेस भाजपा मिल कर सरकार बना रहे हैं तो गृहमंत्री से कम में नहीं मानूंगा. हा हा हा हा...


वैसे रोचक पोस्ट है. खूब.

संगीता पुरी ने कहा…

बहुत अच्‍छा है ... अभी से ही इस दिशा में प्रयास शुरू कर दिया जाए तो पांच वर्षों में सफल्‍ता अवश्‍य मिलेगी ... पर मंत्रीमंडल में ज्‍योतिष विभाग भी बनाएं और मुझे भी जगह दे दें तो ज्‍योतिष के विकास के लिए अच्‍छा हो।

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा…

हे भगवान, ब्लॉगजगत का हाल भी संसद जैसा न हो जाए.

आशीष खण्डेलवाल (Ashish Khandelwal) ने कहा…

अच्छा है जी... आपने बहुत अच्छी सरकार का प्रस्ताव रखा है.. सभी मंत्रियों को बधाई.. पर गुज़ारिश है कि हम जैसी आम जनता को भुला न देना..

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

भाई भड़ासियों के लिए कोई पद न हो तो कम से कम नागरिकता जरूर रहने देना वरना ऐसा न हो कि हम सबको देश से ही तड़ीपार करवा दो या फिर यहीं देश में अंदर की हवा खिलाते रहो:)

khabaryaar ने कहा…

ब्लॉग पर कार्टून-केरीकेचर तो बनने ही लगे आप लोगों के तो मंत्री भी बन ही जायेंगे सब . अपनी अभी से बधाइयाँ.

समयचक्र - महेन्द्र मिश्र ने कहा…

अपुन तो ठहरे ठेठ सरकारी जब मंत्रिमंडल बन जाये तो आपकी कमाई के विभाग संभाल देंगे और कार्यालय चला देंगे हम सरकारी जन . हा हा

डॉ. मनोज मिश्र ने कहा…

मंत्रिमंडल में जातीय और क्षेत्रीय असंतुलन है , यह सरकार १३ दिन से ज्यादा नहीं चल पायेगी .

अनिल कान्त : ने कहा…

ha ha ha ha..........
prem mantri kaun si post hai bhala ...nayi ijaat ki hai :) :)
mazedar post !!
ha ha ha

Anil ने कहा…

धीरू सिंह जी: फिलहाल तो कोई सोनिया गाँधी नजर नहीं आती हैं चिट्ठा जगत पर। यदि कोई हो तो बतलाने का कष्ट करें :)

संजय बेंगाणी जी को गृहमंत्री, और संगीता जी को ज्योतिष मंत्रिन बना दिया जाता है!

काजल कुमार और आशीष खंडेलवाल जी: यह सरकार आम जनता को ध्यान में रखते हुये बनायी गयी है। सो ब्लाग जगत का हाल संसद जैसा नहीं होगा, अलबत्ता संसद का हाल ब्लाग जगत जैसा हो जाये तो क्या कहने!

मनोज मिश्र जी: हम सभी का धर्म भारत और जाति चिट्ठाकार है। तो झगड़े की गुंजाइश ही नहीं! सरकार तेरह साल भी चल सकती है :)

अनिल कान्त जी: प्रेम मंत्री एक ऐसा पद है जो अपने आप में सबसे महत्त्वपूर्ण है लेकिन किसी भी देश की सरकार ऐसा पद रखती ही नहीं है! अब भला दुनिया की सरकारों को कौन समझाये?

और जिस-जिसने टिप्पणी रूपी प्रसाद दिया है, उनके भी चांस अच्छे हैं - कहीं न कहीं तो फिट कर ही दूंगा! :)

Arkjesh ने कहा…

बाकी सब बिना विभाग के मंत्री हैं |

रंजना [रंजू भाटिया] ने कहा…

:) बढ़िया मंत्री मंडल है यह ....

परमजीत बाली ने कहा…

रेल मंत्री कौन होगा...ज्ञा.....;))

PN Subramanian ने कहा…

मुसाफिर जात को रेल मंत्री बनाना सही रहेगा. हम जाते हैं पर्यटन विकास में. खाली है न!

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi ने कहा…

आप ने जिम्मेदारी दी उसे निभाएंगे, लेकिन पहली शर्त ये कि तुरंत 15000 अदालतें, सुप्रीम कोर्ट की चार बैंचें, और उच्च न्यायालयों में दुगने न्यायाधीश चाहिए। वित्त मंत्री कुछ भी करें पहले साल में ये इंतजाम करें। वरना अपना तो अभी से स्तीफा समझें।

प्रवीण त्रिवेदी...प्राइमरी का मास्टर ने कहा…

भाई अपना तो खूंटा गाद कर हक़ बनता है शिक्षा मंत्री पर !!
पर वह न सही तो प्राईमरी के मास्टर की औकात के अनुसार कम से कम प्राथमिक शिक्षा मंत्री ही बना दीजिये
सर्व शिक्षा अभियान जैसे कितने अभियान चला कर आप सब को मालामाल करवा दूंगा ?









कहीं आपका टास्क मैनेजर DISABLED तो नहीं ?पर आपकी राय ?

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" ने कहा…

भई इस सरकार में हमारा भी वामपंथियो जैसा बाहर से समर्थन समझ लीजिए.....

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

भाई हमारे प्रधानमंत्री समीरलाल जी अभी इंगलैंड के प्रवास पर हैं. उनको खबर भेज दी गई है. हम भी विदेश मंत्री की शपथ लेने आ ही रहे हैं, कौन सी तारीख तय हुई है?

रामराम.

cmpershad ने कहा…

पर.........इसके लिए तो प्रधान मंत्री को इम्पोर्ट करना पडेगा। पहले आप संविधान बदलिए :)

अभिषेक ओझा ने कहा…

अरे भाई हमारे लिए भी एक मंत्रालय गठित किया जाय. अपनी कैबिनेट में बड़ी जान पहचान है :-)

Udan Tashtari ने कहा…

भई, अब आपका आग्रह कैसे टालूँ..वापस आता हूँ. :)

मंत्री मंडल में अनूप शुक्ल ’फुरसतिया’ जी ’लोक सभा अध्यक्ष का पद नहीं दर्शाया गया है. बहुत बखूबी अंजाम देंगे वो इस काम को. :)

Anil ने कहा…

इस लोकसभा का विस्तार कर दिया गया है। पोस्ट दोबारा पढ़ें। "जो नहीं कहिन, वा रहि गयिन"

-कौतुक ने कहा…

कल से पढ़ रहा था इसको, ऑफिस में फायरवाल की वजह से कमेन्ट नहीं कर सकता, सो विलंब के लिए क्षमा चाहता हूँ. वैसे नेता हूँ तो इसकी जरूरत नहीं.

मजेदार, मनोरंजक पोस्ट. मुझे मंत्री बना दिया? काएं मजाक करी छू साईं.

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey ने कहा…

अच्छी रेवड़ियां बंट रही हैं। :)

Neeraj Rohilla ने कहा…

हमें खेल मंत्री ही बना देते...:-)

नरेश सिह राठौङ ने कहा…

लेकिन भाई कुनाव आयोग का अध्यक्ष किसे बना रहे है ।