गुरुवार, 4 दिसंबर 2008

अंग्रेजों ने चुराये हिंदी और उर्दू के शब्द


अंग्रेजों ने भारत से न सिर्फ सोना-चाँदी और हीरे-जवाहरात चुराये थे, वे हमारे शब्द भी चुरा ले गये थे। पेश है अंग्रेजों द्वारा चुराये हुये कुछ शब्द!

Yoga - योग
Swastika - स्वास्तिक
Sari - साड़ी
Sati - सती
Shanti - शांति
Khaki - खाकी
Pundit - पंडित
Guru - गुरु
Dharma - धर्म
Karma - कर्म (अर्थ बदल दिया गया)
Chint - छींट का कपड़ा
Dungaree - डूंगरी का कपड़ा
Cot - खाट
Pyjama - पजामा
Jungle - जंगल
Calendar - कालांतर
Sugar - शक्कर
Masala - मसाला
Chutney - चटनी
Bandana - बांधना
Lac - लाख
Thug - ठग
Goon - गुंडा
Bungalow - बंगला
Verandah - बरामदा
Pukka - पक्का
Kutcha -कच्चा
Kebab - कबाब
Attar - इत्र
Camphor - कपूर
Safari - सफ़र
Saffron - ज़ाफ़रानी
Angrez - अंग्रेज
Badmash - बदमाश
Adda - अड्डा
Bundh - बंद
Dal - दाल
Puri - पूरी / पूड़ी
Bandobast - बंदोबस्त
Chamcha - चमचा
Neta - नेता
Dhaba - ढाबा
Aloo - आलू
Desi - देसी / देशी
Filmi - फिल्मी
Balti - बाल्टी
Chaat - चाट
Sepoy - सिपाही
Junta - जनता (अर्थ बदल दिया गया)
Kismet - किस्मत
Dinghy - डिंगी
Basmati - बासमती (चावल)
Cheetah - चीता
Coolie - कुली
Cummerbund - कमरबंद
Juggernaut - जगन्नाथ (अर्थ बदल दिया गया)
Loot - लूट
Mahout - महावत
Samosa - समोसा
Cashmere - कश्मीरी (शॉल)
Shawl - शॉल
Aryan - आर्य
Curry - कढ़ी (अर्थ बदल दिया गया)
Jute - जूट
Kamasutra - कामसूत्र
Purdah - पर्दा
Tamasha - तमाशा
Chakra - चक्र
Nirvana - निर्वाण
Bindi - बिंदी
Ghee - घी

क्या आपको भी कोई चुराया हुआ शब्द पता है? टिप्पणी में कह डालें!

8 टिप्‍पणियां:

ranjan ने कहा…

बड़ी लम्बी लिस्ट है.. शातिर चोर थे/है भाई

मुसाफिर जाट ने कहा…

अजी हमने भी तो उनके बहुत से शब्द ले लिए है. जैसे train, rail, cricket, gas, glass (गिलास), television, computer, वगैरा वगैरा.

RAJIV MAHESHWARI ने कहा…

वो चोर .............................हम महा चोर

INDIA NEWS ने कहा…

कुछ और शब्‍द
लम्‍प
(लैम्‍प)
लान्‍टेन (लालटेन) (लैण्‍टर्न)
बोतल (बॉटल)

ज्‍यामिति (ज्‍योमेट्री)
त्रिकोणमिति (ट्रिग्‍नोमेट्री)

हिमांशु ने कहा…

यह शब्द न लें तो उनका काम ही न चले . शब्दों का आयात निर्यात संस्कृति से जुडी हुई बात है . यदि वहा हमारी संस्कृति के लोग बहुतायत में हैं तो उन्हें ऐसे अनगिनत शब्द लेने होंगे और अपना शब्दकोष समृद्ध करते रहना होगा.

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा…

भाई, इसे चोरी के बजाए अँग्रेज़ी की ग्राहयता कहें तो क्या ज़्यादा ठीक न होगा ?

विनय ने कहा…

कुछ और शब्द भी हैं जल्द ही पेश किए जायेंगे!

दिवाकर मिश्र ने कहा…

जैसा कि काजल जी ने कहा कि इसे चोरी न कहें, वही ठीक लगता है । संस्कृतियों की भिन्नता के कारण कई बार एक भाषा के समानान्तर दूसरी भाषा में शब्द नहीं मिलते । इसे lexical hole कहा जाता है । इसी अन्तराल को भरने के लिए वे शब्द स्रोतभाषा से वैसे ही ले लिए जाते हैं । अब यही देखिए, साड़ी शब्द को उन्होंने क्यों ले लिया? अरे उनके यहाँ साड़ी का चलन ही नहीं था तो उसका नाम भला क्या होता जिस रूप में इस शब्द का अनुवाद किया जाता? इसी तरह पण्डित जी का जो स्थान भारतीय संस्कृति में है, वैसी अवधारणा ही उनकी संस्कृति में नहीं है । पंडित शब्द के अर्थ में विद्वान होना, संस्कारवान होना, सम्माननीय होना, नियमित धार्मिक अनुष्ठान करना, जरूरत पड़ने पर दूसरों का भी करवाना (तथा प्रायः ब्राह्मण होना) भी शामिल होता है । अब भला इसके लिए उन्हें कौन सा शब्द होगा जबकि ऐसा व्यक्तित्व ही वहाँ की संस्कृति में नहीं है । भाषा में वही कुछ होता है जो संसार (अपने आस पास के) में होता है, या यूँ कहें, भाषा में जो शब्द होते हैं वैसा ही संसार हम देख पाते हैं ।

भारत समाचार ने तो लैम्प, लालटेन और बोतल में उल्टे ही आरोप लगा दिये जबकि ये शब्द हमारी भाषा में अंग्रेजी से आए हैं ।